Breaking News

उत्तर प्रेदश:- योगी जी की विकास की राहें अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही है !
उत्तर प्रेदश:- रंगरलियां मना रहे दो जोड़ो की हुई जमकर पिटाई
देश:- प्रधानमंत्री ने कहा कि सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण विधेयक एक ऐतिहासिक कदम है जो गरीबों के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है
देश:- स्वच्छ भारत मिशन खुले में शौच से मुक्त भारत के लक्ष्य प्राप्ति की ओर
देश:- मेघालय में पहली ‘स्वदेश दर्शन’ परियोजना का उद्घाटन
देश:- रेल संरक्षा में भारत-जापान सहयोग के लिए रेलमंत्रालय ने चर्चा रिकॉर्ड पर हस्‍ताक्षर किये |
Category

बिहार

पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त मामले के एक अभियुक्त को किया गिरफ्तार

By | बिहार | No Comments

 

पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त मामले के एक अभियुक्त को किया गिरफ्तार  

रिपोर्ट प्रभात कुमार भगवानपुर वैशाली

सराय ।- थाना क्षेत्र के सरसई गांव से सराय पुलिस ने पुलिस के साथ मारपीट एवं पुलिस वाहन क्षतिग्रस्त मामले के एक अभियुक्त को किया गिरफ्तार जानकारी के अनुसार शुक्रवार रात्रि में सराय पुलिस में सरसई गांव में छापेमारी कर पुलिस के साथ मारपीट पुलिस गाड़ी क्षतिग्रस्त मामले के कांड संख्या 153 /20 के अभियुक्त सुकेन्द्र सहनी के पुत्र वीर चंद्र साहनी को गिरफ्तार कर थाने पर ला जेल भेज दिया गया ।

राम मंदिर निर्माण के लिए हुए भूमि पूजन के बाद दीप उत्सव मनाया गया। Skk News Reporter

By | बिहार | No Comments

 

राम मंदिर निर्माण के लिए हुए भूमि पूजन के बाद दीप उत्सव मनाया गया। Skk News Reporter

हाजीपुर वैशाली। वैशाली के विभिन्न हिस्सों में राम मंदिर निर्माण कार्य के लिए हुए भूमि पूजन को लेकर लोगों ने खुशी जाहिर की है। इसको लेकर वैशाली जिले के पातेपुर प्रखंड अंतर्गत डभैच्छ में स्वयंभू प्रकट बाबा दवेश्वर नाथ धाम मंदिर में दीप प्रज्वलित कर दीप उत्सव मनाया गया। जिसमें चुन्नू मिश्रा, समाजसेवी अभिनय कुमार सिंह, विनय चौधरी, आयुष यादव, मुन्ना यादव, महंत रमेश गिरी आदि के साथ दर्जनों लोग इस मौके पर उपस्थित थे।

सड़क के जर्जर स्थिति को लेकर लोगों ने सड़क पर धान रोप कर जताया आक्रोश ,जन आंदोलन की चेतावनी भी दी !

By | बिहार | No Comments

 

सड़क के जर्जर स्थिति को लेकर लोगों ने सड़क पर धान रोप कर जताया आक्रोश ,जन आंदोलन की चेतावनी भी दी !

समस्तीपुर

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रखंड अध्यक्ष पुसा उपेंद्र कुमार दास के अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिला अध्यक्ष समस्तीपुर अनंत कुशवाहा ने कहा कि ठहरा गोपाल पुर चौक से कल्याणपुर प्रखंड के टारा चौक तक जाने वाली सड़क के जर्जर स्थिति के प्रति स्थानीय सासंद, विधायक एवं प्रशासनिक पदाधिकारीयो की अनदेखी के विरोध में विरौली चौक के निकट सरक पर धान रोपा गया साथ ही सरक का निर्माण कार्य सिघर सुरू न होने पर जन आंदोलन की चेतावनी भी दी गई। इस कार्यक्रम में पार्टी के राज्य परिषद् सदस्य मोहिउद्दीननगर विधान सभा सह जिला सचिव रालोसपा समस्तीपुर रंजीत कुमार, अति पिछरा प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष समस्तीपुर आदित्य कुमार ठाकुर, विधि प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष समस्तीपुर राजीव कुशवाहा, दलित /महादलित प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष समस्तीपुर रामनाथ राम, विपीन कुमार विपीन, विकास कुमार साहनी, अनिल कुमार, शेखर कुमार, नितेश निशांत, सुवोध चौधरी, रौशन कुमार, मो फैयाज, आफताब आलम, रौशन कुमार दास, अरविंद कुमार राम, शिवजी महतो, सुर्यदेव प्रसाद सिंह, सोनेलाल सिंह, टुन टुन कुशवाहा, रविंद्र कुमार रवि, रामानंद सिंह, सन्नी कुमार इत्यादि लोग उपस्थित थे।

By | बिहार | No Comments

सड़क के जर्जर स्थिति को लेकर लोगों ने सड़क पर धान रोप कर जताया आक्रोश ,जन आंदोलन की चेतावनी भी दी !

समस्तीपुर

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रखंड अध्यक्ष पुसा उपेंद्र कुमार दास के अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिला अध्यक्ष समस्तीपुर अनंत कुशवाहा ने कहा कि ठहरा गोपाल पुर चौक से कल्याणपुर प्रखंड के टारा चौक तक जाने वाली सड़क के जर्जर स्थिति के प्रति स्थानीय सासंद, विधायक एवं प्रशासनिक पदाधिकारीयो की अनदेखी के विरोध में विरौली चौक के निकट सरक पर धान रोपा गया साथ ही सरक का निर्माण कार्य सिघर सुरू न होने पर जन आंदोलन की चेतावनी भी दी गई। इस कार्यक्रम में पार्टी के राज्य परिषद् सदस्य मोहिउद्दीननगर विधान सभा सह जिला सचिव रालोसपा समस्तीपुर रंजीत कुमार, अति पिछरा प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष समस्तीपुर आदित्य कुमार ठाकुर, विधि प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष समस्तीपुर राजीव कुशवाहा, दलित /महादलित प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष समस्तीपुर रामनाथ राम, विपीन कुमार विपीन, विकास कुमार साहनी, अनिल कुमार, शेखर कुमार, नितेश निशांत, सुवोध चौधरी, रौशन कुमार, मो फैयाज, आफताब आलम, रौशन कुमार दास, अरविंद कुमार राम, शिवजी महतो, सुर्यदेव प्रसाद सिंह, सोनेलाल सिंह, टुन टुन कुशवाहा, रविंद्र कुमार रवि, रामानंद सिंह, सन्नी कुमार इत्यादि लोग उपस्थित थे।

सड़क के जर्जर स्थिति को लेकर लोगों ने सड़क पर धान रोप कर जताया आक्रोश ,जन आंदोलन की चेतावनी भी दी !

By | बिहार | No Comments

 

सड़क के जर्जर स्थिति को लेकर लोगों ने सड़क पर धान रोप कर जताया आक्रोश ,जन आंदोलन की चेतावनी भी दी !

समस्तीपुर

राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के प्रखंड अध्यक्ष पुसा उपेंद्र कुमार दास के अध्यक्षता में कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिला अध्यक्ष समस्तीपुर अनंत कुशवाहा ने कहा कि ठहरा गोपाल पुर चौक से कल्याणपुर प्रखंड के टारा चौक तक जाने वाली सड़क के जर्जर स्थिति के प्रति स्थानीय सासंद, विधायक एवं प्रशासनिक पदाधिकारीयो की अनदेखी के विरोध में विरौली चौक के निकट सरक पर धान रोपा गया साथ ही सरक का निर्माण कार्य सिघर सुरू न होने पर जन आंदोलन की चेतावनी भी दी गई। इस कार्यक्रम में पार्टी के राज्य परिषद् सदस्य मोहिउद्दीननगर विधान सभा सह जिला सचिव रालोसपा समस्तीपुर रंजीत कुमार, अति पिछरा प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष समस्तीपुर आदित्य कुमार ठाकुर, विधि प्रकोष्ठ जिला अध्यक्ष समस्तीपुर राजीव कुशवाहा, दलित /महादलित प्रकोष्ठ जिला उपाध्यक्ष समस्तीपुर रामनाथ राम, विपीन कुमार विपीन, विकास कुमार साहनी, अनिल कुमार, शेखर कुमार, नितेश निशांत, सुवोध चौधरी, रौशन कुमार, मो फैयाज, आफताब आलम, रौशन कुमार दास, अरविंद कुमार राम, शिवजी महतो, सुर्यदेव प्रसाद सिंह, सोनेलाल सिंह, टुन टुन कुशवाहा, रविंद्र कुमार रवि, रामानंद सिंह, सन्नी कुमार इत्यादि लोग उपस्थित थे।

समस्तीपुर रेलवे स्टेशन पर टिकट दलाल को रेलवे कर्मियों ने धर दबोचा।किया पुलिस के हवाले।

By | बिहार | No Comments

 

समस्तीपुर रेलवे स्टेशन पर टिकट दलाल को रेलवे कर्मियों ने धर दबोचा।किया पुलिस के हवाले

समस्तीपुर रेलवे स्टेशन पर टिकट दलाल को रेलवे कर्मियों ने धर दबोचा।किया पुलिस के हवाले।

समस्तीपुर(जकी अहमद)

समस्तीपुर रेलवे स्टेशन पर एक महिला से टिकट बदलने वाले एक युवक को पुलिस ने लिया हिरासत में।
पीड़ित महिला ने बताया की उसने उक्त युवक को एक टिकट के लिए आरक्षण फार्म भरने को कहा उस लड़के ने फार्म भर दिया।महिला जब टिकट ले चुकी तभी उक्त लड़का फिर आया महिला से टिकट लेकर चेक करने के बहाने दूसरा कैंसिल टिकट थमा कर गायब हो गया। पीड़ित महिला को शक हुआ तो तो उसने रेलवे कर्मचारी को टिकट दिखाया। कर्मचारी ने महिला को बताया की आपका टिकट गलत है ये कैंसिल टिकट है आप इस पर यात्रा नहीं कर सकती।तब महिला ने आरक्षण प्रवेक्षक श्री शशिकांत सिंह से मिली, सारा मामला बताया त्वरित कार्रवाई करते हुए शशिकांत सिंह ने इसकी सूचना टिकट काउंटर पर दिया एवं उक्त लड़के की आने का इंतजार किया , रेलवे कर्मी पहले ही चारो तरफ तैयार थे, जैसे ही लड़का टिकट वापस करने आया रेलवे क्रमियों ने उसे पकड़ लिया एवं रेलवे पुलिस के हवाले कर दिया।
पकड़े गए युवक ने अपना नाम सुरेश कुमार पिता चुन्नीलाल पोद्दार ,ग्राम पोस्ट- सारी, थाना- वारिसनगर बताया है। रेलवे पुलिस ने तलाशी लिया तो उक्त लड़के के पॉकेट से एक और कैंसिल टिकट मिला।उक्त युवक ने बताया कि इससे पहले भी कई बार ऐसे करने की बात कबूल किया है। पुलिस पूछताछ कर रही है।

समस्तीपुर(जकी अहमद)

समस्तीपुर रेलवे स्टेशन पर एक महिला से टिकट बदलने वाले एक युवक को पुलिस ने लिया हिरासत में।
पीड़ित महिला ने बताया की उसने उक्त युवक को एक टिकट के लिए आरक्षण फार्म भरने को कहा उस लड़के ने फार्म भर दिया।महिला जब टिकट ले चुकी तभी उक्त लड़का फिर आया महिला से टिकट लेकर चेक करने के बहाने दूसरा कैंसिल टिकट थमा कर गायब हो गया। पीड़ित महिला को शक हुआ तो तो उसने रेलवे कर्मचारी को टिकट दिखाया। कर्मचारी ने महिला को बताया की आपका टिकट गलत है ये कैंसिल टिकट है आप इस पर यात्रा नहीं कर सकती।तब महिला ने आरक्षण प्रवेक्षक श्री शशिकांत सिंह से मिली, सारा मामला बताया त्वरित कार्रवाई करते हुए शशिकांत सिंह ने इसकी सूचना टिकट काउंटर पर दिया एवं उक्त लड़के की आने का इंतजार किया , रेलवे कर्मी पहले ही चारो तरफ तैयार थे, जैसे ही लड़का टिकट वापस करने आया रेलवे क्रमियों ने उसे पकड़ लिया एवं रेलवे पुलिस के हवाले कर दिया।
पकड़े गए युवक ने अपना नाम सुरेश कुमार पिता चुन्नीलाल पोद्दार ,ग्राम पोस्ट- सारी, थाना- वारिसनगर बताया है। रेलवे पुलिस ने तलाशी लिया तो उक्त लड़के के पॉकेट से एक और कैंसिल टिकट मिला।उक्त युवक ने बताया कि इससे पहले भी कई बार ऐसे करने की बात कबूल किया है। पुलिस पूछताछ कर रही ह

समाजसेवी आदित्य कुमार ने बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र में राहत सामग्री का वितरण किया। समस्तीपुर

By | बिहार | No Comments

 

समाजसेवी आदित्य कुमार ने बाढ़ ग्रस्त क्षेत्र में राहत सामग्री का वितरण किया।

समस्तीपुर

कल्याणपुर प्रखंड के कई गावों में बाढ़ का पानी आने के कारण हजारों की संख्या में ग्रामीण मुसीबत में फंसे हुए हैं। कैंपों में रहकर समय व्यतीत कर रहे बाढ़ पीड़ित ग्रामीणजनों का दर्द देखते हुए कई लोग उनके बीच पहुंच रहे हैं और भोजन व कपड़े का इंतजाम करा रहे हैं। इसी क्रम में कल्याणपुर प्रखंड के ध्रुवगामा पंचायत के ग्रामीणों ने समाजसेवी आदित्य कुमार के नेतृत्व में 1,000 पैकेट भोजन तैयार कर जटमलपुर , खरसंड, कबरगामा, हायाघाट तथा बलुआहा में बाढ़ पीड़ितों के बीच वितरित किया l इसके अलावा बच्चों को बिस्किट के पैकेट, कपड़े आदि राहत सामग्री के रूप में बांटी। युवा समाजसेवी आदित्य कुमार ने बताया कि बाढ़ पीड़ितों की समस्या को देखते हुए उन्होंने 01 हजार से अधिक लोगों का खाना बनवा कर बाढ़ पीड़ितों को बांटा। इस दौरान युवाओं के साथ मार्गदर्शक के रुप में समाजसेवी चंदन कुमार सिंह , संदीप कुमार भी मौजूद थे l

अपराधियों ने पत्रकार को एवं उसकी पुत्री को गोली मारकर किया घायल। वारिसनगर(समस्तीपुर)

By | बिहार | No Comments

 

अपराधियों ने पत्रकार को एवं उसकी पुत्री को गोली मारकर किया घायल।

वारिसनगर(समस्तीपुर)

वारिसनगर गोही पंचयात के नयाटोला निवासी श्रवण कुमार एवं उसकी पुत्री रागिनी कुमारी 10 को अपराधियों ने उस वक्त गोली मार दी जिस समय वे लोग सपरिवार अपने दरवाजे पर बैठे थे। अपराधियों ने रात का अंधेरे का फायदा उठाते हुए बाईक से फरार हो गया। अपराधियो की तायदाद तीन थी। संयोग अच्छा था कि पिता और पुत्री को पैर में गोली लगी। जिससे कोई क्षति नही हुई। गृह स्वामी श्रवण कुमार का कहना है कि हमलोग रात्रि में अपने दरवाजे पर बैठे हुए थे उसी समय बाइक से तीन अपराधी आया और दनादन गोली चला दी। दोनो पिता पुत्री का ईलाज शहर के काशीपुर स्थित एक निजी क्लिनिक में ईलाज के लिए भर्ती कराया गया है जहां दोनो घायल का इलाज चल रहा है। ईधर थाना अध्यक्ष परसुंजय कुमार ने बताया कि घटना की जानकारी मिली है। उन्होंने बताया कि जो भी अपराधी ने इस तरह की घटना को अंजाम दिया है उसे बख्शा नहीं जाएगा। बताया जाता है कि घायल श्रवण कुमार मोबाईल वाणी में पत्रकारिता करते हैं। किसी सच्चाई को उजागर करना कितना कठिन काम है ये सहज आप अनुमान लगा सकते है। चौथे स्तंभ पर हमला ये दर्शाता है कि अपराधियों का मनोबल कितना बढ़ा हुआ है।

चिल्ड्रेन आई हेल्थ एंड सेफ्टी मंथ स्पेशल: बच्चों के सुंदर भविष्य के लिए रखें उनके आंखों का ख्याल

By | बिहार | No Comments

 

चिल्ड्रेन आई हेल्थ एंड सेफ्टी मंथ स्पेशल: बच्चों के सुंदर भविष्य के लिए रखें उनके आंखों का ख्याल

– बच्चों के आंखों का डॉक्टर से कराएं नियमित चेकअप
– उचित पोषण आहार देगा बच्चों के आंखों को पोषण
– हमेशा हांथों को साफ रखने की आदत दिलवाएं            रिपोर्ट:नसीम रब्बानी

मुजफ्फरपुर। 7 अगस्त
आंखें जितनी अनमोल हैं उतनी ही संवेदनशील भी, पर आज के इस तकनीकी युग में बच्चे मोबाइल फोन, क्म्प्यूटर, लैपटॉप और टैबलेट देखने में बिताते हैं। जिसके चलते छोटी उम्र में ही कई गंभीर आंखों की समस्या होने लगती है। इस संबंध में आइजीआइएमएस के नेत्र रोग विशेषज्ञ डॉ ज्ञान भास्कर कहते हैं तकनीक के संपर्क में अधिक रहने से बच्चे छोटी उम्र में ही ग्लूकोमा, कंजक्टीवाइटस और आंख के संक्रमण के शिकार हो जाते हैं। यह अगस्त महीना बच्चों के आंखों के बारे में जागरुक होने का महीना है। जिससे हम उनके सुनहरे सपने को एक नई दिशा दे सकें। अभिभावक को चाहिए कि वे बच्चों के हाथों को साफ रखने का प्रयास करें क्योंकि बच्चे इन्हीं गंदे हाथों से अपने आंखों को भी बार -बार छूते हैं। इससे संक्रमण का खतरा बना रहता है।

छह महीने की उम्र से ही चेकअप कराएं
नवजातों का भी नियमित रुप से आंखों की जांच करानी चाहिए। यह आप छह महीने के उम्र से शुरु कर सकते हैं। यह चेकअप शिशुओं के आंखों का हाल बताने में मदद करता है। इससे आंखों की देखरेख तो होती ही है भविष्य में होने वाली आंखों की बीमारियों का भी पता चलता है। जिससे समय रहने खतरे को टाला जा सकता है। इसके लिए शिशुओं का चेकअप किसी विश्वसनीय चिकित्सक से ही करवाएं।

मोबाइल, टीवी के लिए उचित दूरी का निर्धारण
जब भी बच्चे टीवी के आगे बैठें या फिर मोबाइल, लैपटॉप का इस्तेमाल करें, उन्हें ऐसी चीजों को देखते वक्त एक उचित दूरी बनाने को कहें। गैजट या किसी भी आधुनिक तकनीक यंत्रों को देखते वक्त आंखों से करीब 50 सेंटीमीटर की दूरी जरूर होनी चाहिए। वहीं पढ़ते वक्त किताबों और आंखों के बीच में करीब 30 से 40 सेंटीमीटर की दूरी जरूर होनी चाहिए। बच्चों को यह भी बताएं कि ऐसी चीजों पर घंटों टकटकी लगाएं न बैठे रहें। जब बच्चा फोन का इस्तेमाल कर रहा हो तब या तो आप बच्चों के साथ बैठकर उनका मनोरंजन करें या फिर उन्हें बीच बीच में छोटा ब्रेक लेने को कहें. बेहतर होगा की बच्चे बीच-बीच में आंखों की एक्सरसाइज करते रहें. ऐसा करने से उनकी आंखें अच्छी रहेंगी और वह इंफेक्शन का शिकार भी नहीं होंगे।

दें सही आहार
बच्चों की आंखों की देखभाल करने और उन्हें स्वस्थ्य रखने के लिए उचित आहार भी बहुत जरुरी है। इसलिए उन्हें विटामिन -ए से भरपूर चीजे उनके खाने में जरूर शामिल करें। बच्चों को रोजाना दूध और दूध से बने प्रोडक्ट जैसे दही,छाछ, पनीर और घी मौसमी फल, साथ ही गाजर, पीली नारंगी सब्जियाँ, सोयाबीन और हरी सब्जी से मिलीजुली एक संतुलित आहार जरुर दें। आप चाहें तो छह महीनों में एक बार बच्चों का ब्लड टेस्ट कराकर शरीर में विटामिन और मिनरल की कमी पता कर उनके डाइट में तब्दीली भी कर सकते हैं।

आउटडोर गेम के लिए करें प्रोत्साहित
प्राकृतिक रौशनी में खेलने या समय बीताने पर बच्चों की आंखों पर बहुत ही सकारात्मक प्रभाव पड़ता है। अभिभावकों को बच्चों को कम से कम एक घंटा बाहरी खेल खेलने के लिए प्रोत्साहित करना चाहिए। इससे आंखे शांत और स्वस्थ्य रहती हैं। हालांकि अभी कोविड़-10 का संक्रमण फैला हुआ है, इसलिए उन्हें घर की छत या लॉन में खेलने को प्रोत्साहित करना चाहिए। साथ ही सुबह के 11 बजे से शाम के 4 बजे के बीच बच्चों को बाहर धूप में नहीं खेलने देना चाहिए।

अब स्वदेशी तकनीक एलिसा किट से होगी फ्रंटलाइन वर्कर्स के कोरोना की जांच

By | बिहार | No Comments

 

अब स्वदेशी तकनीक एलिसा किट से होगी फ्रंटलाइन वर्कर्स के कोरोना की जांच
रिपोोर्ट:नसीम रब्बानीी
– अभी आरटी-पीसीआर, रैपिड एंटीजन टेस्ट और ट्रूनेट मशीन से होती है जांच
– तुल्नात्मक तौर पर सस्ती है एलिसा किट से टेस्ट
– पूर्व में हो चुके संक्रमण की का भी लगेगा पता

मुजफ्फरपुर। 7 अगस्त
कोरोना के बढ़ते संक्रमण और उसके जांच से संबंधित कार्यवाई हेतु आईसीएमआर के द्वारा स्वदेशी तकनीक से निर्मित एलिसा टेक्नोलॉजी से रैपिड एंटीबॉडी टेस्ट को मंजूरी मिल गयी है। जिसे स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोविड कार्य में लगे जिले के फ्रंट लाइन वर्कर्स, हेल्थकेयर वर्कर्स के साथ सरकारी कार्यालयों के कर्मी, बैंक एवं अन्य सार्वजनिक सेवाओं के कर्मियों की जांच की जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के इस आदेश पर मुजफ्फरपुर के लिए 200 किट प्रदान किए गये हैं। इस जांच को पटना के आरएमआरआई में किया जाएगा। इस संबंध में आईसीएमआर ने कहा है कि ज्यादा खतरे वाले इलाके, कंटेनमेंट जोन और फ्रंटलाइन वर्कर्स और स्वास्थ्य कर्मचारियों पर ही इस किट का इस्तेमाल किया जाएगा।

कैसे करता है एलिसा किट काम

इस तकनीका का अविष्कार 1974 में किया गया था। ईएलआईएसए का मतलब है एंजाइम-लिंक्ड इम्यूनो-सोरबेंट एस्से। इस तकनीक का इस्तेमाल ये पता करने में लगाया जाता है कि क्या शरीर में इम्यून सिस्टम विशेष वायरस के खिलाफ लड़ने के लिए एंटीबॉडी बना पाया है या नहीं।
इस टेस्ट को एंजाइम-लिंक्ड इसलिए कहा जाता है क्योंकि ये खून के सैंपल में एंटीबॉडी को पकड़ने में एंजाइम का इस्तेमाल किया जाता है। एक ईएलआईएसए किट दो तरह की एंटीबॉडी पर निर्भर करता है, पहला- इम्यूनोग्लोबुलिन जी और दूसरा इम्यूनोग्लोबुलिन एम।
इम्यूनोग्लोबुलिन जी संक्रमण के बाद वाले स्टेज पर विकसित हुई एंटीबॉडी को पकड़ती है और इम्यूनोग्लोबुलिन एम संक्रमण के पहली स्टेज पर विकसित एंटीबॉडी खोजती है। अभी सिर्फ इम्यूनोग्लोबुलिन जी टेस्ट किट को भारत में मंजूरी दी गई है।
क्यों जरुरी है एलीजा टेस्ट
आईसीएमआर के वैज्ञानिकों का मानना है कि एक नए वायरस से लड़ने के लिए सबसे ज़रूरी संक्रमण का स्तर पता लगाना होता है। जब तक वायरस का इलाज नहीं मिल जाता, तब तक आंकड़े ही दवाई की तरह काम करते हैं। इसी के आधार पर वैज्ञानिक और सरकार फैसले लेते हैं कि, उन्हें किस तरह के कदम उठाने हैं, क्या छूट देनी है, कहां- कितनी रियायत देनी है। कोरोना के संक्रमण के मामले में भी ठीक ऐसा ही है, यहां भी किसी भी तरह का फ़ैसला लेने के लिए आंकड़ों की बहुत ज़रूरत है। एलिसा किट से यह स्पष्ट होगा कि, किसके शरीर में संक्रमण पूर्व से हो चुका है और किस में संक्रमण होने की संभावना है। यह एक नई विधि है इससे शरीर के एंटीबॉडी की जांच की जायेगी।

सेरोलॉजिकल टेस्ट ही है एलीजा टेस्ट

इसमें मरीज की उंगली में सूई चुभोकर खून का सैंपल लिया जाता है, जिसका परिणाम 15 से 20 मिनट में आ जाता है। एंटीबॉडी टेस्ट को ही सेरोलॉजिकल टेस्ट कहा जाता है। यह जेनेटिक टेस्ट के मुकाबले काफी सस्ता होता है। रिवर्स- ट्रांसक्रिप्टेस रीयल टाइम पोलीमरेज चेन रिएक्शन (आरटी-पीसीआर) यानी जेनेटिक टेस्ट में नौ घंटे में रिजल्ट मिलता है। पीसीआर टेस्ट शुरुआती दौर में संक्रमण का पता तभी लगा सकता है। जब वायरस के संक्रमण से लड़ने के लिए शरीर में एंटीबॉडी डेवलप हो चुका हो। इसलिए एंटी बॉडी टेस्ट में जो पॉजिटिव आते हैं, उनमें संक्रमण का सही से पता लगाने के लिए जेनेटिक टेस्ट यानी पीसीआर टेस्ट के लिए भेजा जाता है।

हाई रिस्क जोन के लोगों की होगी जांच

पत्र में बताया गया है कि एलिसा टेस्ट का उपयोग डॉक्टर, नर्स एवं सहायक कर्मचारी, स्वास्थ्य कर्मी, फार्मासिस्ट, क्लर्क, थर्मल स्क्रीनिंग करने वाले, प्रेस रिपोर्टर, दैनिक कार्य करने वाले मजदूर, प्रवासी मजदूर, निगम कर्मचारी, एंबुलेंस ड्राइवर, बैंक कर्मी, डाक कर्मी, कूरियर स्टाफ, कैदी, टीवी मरीज, डायलिसिस मरीज की भी प्राथमिकता के आधार पर टेस्टिंग करनी है। बफर एवं कंटेंटमेंट जोन में भी जांच करनी हैं।