Breaking News

उत्तर प्रेदश:- योगी जी की विकास की राहें अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही है !
उत्तर प्रेदश:- रंगरलियां मना रहे दो जोड़ो की हुई जमकर पिटाई
देश:- प्रधानमंत्री ने कहा कि सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण विधेयक एक ऐतिहासिक कदम है जो गरीबों के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है
देश:- स्वच्छ भारत मिशन खुले में शौच से मुक्त भारत के लक्ष्य प्राप्ति की ओर
देश:- मेघालय में पहली ‘स्वदेश दर्शन’ परियोजना का उद्घाटन
देश:- रेल संरक्षा में भारत-जापान सहयोग के लिए रेलमंत्रालय ने चर्चा रिकॉर्ड पर हस्‍ताक्षर किये |
All Posts By

admin

राज्यों की सीमाएं सील कर प्रवासी मजदूरों की आवाजाही पूरी तरह रोकी जाए : केंद्र सरकार

By | देश, राज्य | No Comments

राज्यों की सीमाएं सील कर प्रवासी मजदूरों की आवाजाही पूरी तरह रोकी जाए : केंद्र सरकार

नई दिल्ली केंद्र सरकार ने निर्देश दिया है कि जो लोग भी लॉकडाउन का उल्लंघन करते हुए एक जगह से दूसरी जगह गए हैं, उन्हें कम से कम 14 दिन के लिए आइसोलेट किया जाएगा यह निर्देश सभी राज्य सरकारों को जारी कर दिया गया है. आपूर्ति भी जारी रहे इस पर भी कोशिश जारी है और जरूरी कदम भी उठाए जा रहे हैं लेकिन इस बीच देखा गया है कि प्रवासी मजदूर बड़ी संख्या में एक जगह से दूसरी जगह गए हैं सभी राज्यों सरकारों को सीमाएं सील रखने के लिए कहा गया है. सभी राज्यों को यह भी कहा गया है कि हाइवे पर भी किसी तरह का आवगमन नहीं होना चाहिए
जरूरत मंदों को खाना और आश्रय की पर्याप्त व्यवस्था की जाए इसके साथ ही नोटिस में यह भी साफ तौर पर कहा गया कि जो लोग लॉकडाउन का उल्लंघन कर एक जगह से दूसरी जगह गए हैं उनको कम से कम 14 दिन के लिए आइसोलेशन में रख निगरानी भी बनाए रखी जाए इसके साथ ही सभी राज्यों को इस बात का भी निर्देश दिया गया है कि मजदूरों को उनकी मेहनत का पैसा समय से मिलता रहे और इसमें कोई कटौती नहीं होने पाए किसी भी मजदूर इस समय घर का किराया न मांगा जाए जो लोग छात्रों और मजदूरों से कमरा या घर खाली करने के लिए कहते हैं उनके खिलाफ कार्रवाई हो
गौरतलब है कि 21 दिनों के लॉकडाउन का ऐलान होते ही बड़ी संख्या में कामगार मजदूर अपने घरों की ओर पलायन करने लगे हैं हालांकि सरकार की ओर से बार-बार अपील की जा रही है कि उनके लिए पूरा इंतजाम किया जाएगा लेकिन मजदूरों का कहना है कि जो भी समस्या होगी परिवार के साथ झेला जाएगा. हालात ये हो गए हैं कि जयपुर दिल्ली एनसीआर से बड़ी संख्या में कामगार और मजदूर पैदल ही अपनों घरों की ओर जा रहे हैं

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव ही खुद की सुरक्षा हैं प्रधान बिजेन्द्र त्यागी।

By | उत्तर प्रेदश | No Comments

नानौता – सहारनपुर
कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव ही खुद की सुरक्षा हैं प्रधान बिजेन्द्र त्यागी।

कचराई के ग्राम प्रधान बिजेन्द्र त्यागी ने बताया कि कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए हमने पूरे गाँव की गली – मोहल्लो और नालियो में सैनिटाइजर का छिडकाव कराया जा रहा है।गाँव में दो सफाई कर्मी है।जो हर रोज साफ सफाई का कार्य सुचारु रूप से कर रहे हैं।
ग्राम प्रधान बिजेन्द्र त्यागी ने बताया कि हमारे पूरे गाँव में लाॅकडाउन पूरी तरह सफल है।कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सभी ग्रामीण अपने – अपने धरो में है।उन्होंने बताया कि किसी भी ग्रामीण की कोई भी समस्या है।उसे हल करना हमारा कर्तव्य है।
ग्राम प्रधान बिजेन्द्र त्यागी ने बताया कि शासन और प्रशासन के आदेशों का पालन करना हमारा कर्तव्य है।कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए सामाजिक दूरी बहुत जरूरी है।
मनोज त्यागी

देवबंद में कोरोना वायरस के कारण नगर ओर ग्रामीणों क्षेत्रों के सभी मंदिरों के कपाट बंद है

By | उत्तर प्रेदश | No Comments

देवबंद में कोरोना वायरस के कारण नगर ओर ग्रामीणों क्षेत्रों के सभी मंदिरों के कपाट बंद है


देवबंद में कोरोना वायरस के कारण नगर ओर ग्रामीणों क्षेत्रों के सभी मंदिरों के कपाट बंद है।मंदिरों में केवल पुजारी ही सुबह शाम आरती कर रहे हैं।कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव को लेकर भारत देश में लाॅकडाउन 14 अप्रैल तक किया गया है। कोरोना वायरस से बचाव को लेकर जागरूकता की मुहिम शुरू की गई है। कोरोना वायरस से बचाओ के लिए सामाजिक दूरी ही सबसे जरूरी है।
चैत्र नवरात्र में श्रद्धालु माँ भगवती की आराधना अपने धर में करें। मिनाक्षी त्यागी, साक्षी देवी का कहना है।इस बार चैत्र नवरात्र में माँ भगवती की पूजा धर में ही करेंगे। मां भगवती से प्रार्थना करते हैं।कोरोना वायरस को नष्ट करें।और भारत देश में सुख समृद्धि प्रदान करें।
मनोज त्यागी

प्रशासन और आम जन दोनों की असंवेदनशीलता, कहीं भारी ना पड़े देशवासियों को

By | उत्तर प्रेदश, देश | No Comments

कोविट-19 मात्र एक दिन की जागरूकता के बाद क्या ख़तरा टल गया
प्रशासन और आम जन दोनों की असंवेदनशीलता, कहीं भारी ना पड़े देशवासियों को

ए एस ख़ान
लखनऊ विश्वव्यापी महामारी कोविट-19-कोरोना वायरस को भारत में फैलने से रोकने हेतु जहां केन्द्र और प्रांतीय सरकारों ने दिन रात एक किए हुए हैं, वहीं आमजन, और प्रशासन मात्र इसे सांकेतिक दिशानिर्देश मानकर आचरण कर रहा है, जिसके कारण देश एक भीषण त्रासदी की ओर बढ़ता दिख रहा है ।
कोरोना के कहर की तस्वीरें और ख़बरें विदेशों से लगातार समाचार पत्रों एवं सोषल मीडिया के माध्यम से सामने आ रही है किंतु भारतीयों ने शायद इसे ठीक से समझना नहीं चाहा, या यूं समझो की वे इसे मात्र कुछ पलों के संकट के रूप में लेरहे है ।
वर्ना प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्रियों, सहित अनेकों जागरुक लोगों की अपीलों, निवेदनों, के बाद भी आम आदमी जागरूकता का परिचय नहीं दे रहा है
देश में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी के आह्वान पर रवीवार 22 मार्च को जनता कर्फ़यू के दौरान दिन भर पूरे देश में अभूतपूर्व समर्थन मिला तथा देशवासी घरों में कैद रहे, यह देखकर एक सुखद अहसास हुआ कि जनता जागरूक है तथा कोरोना को हराया जा सकता है ।
किंतु शाम होते ही यह भ्रम टूट गया ।
देश में इस आपदा की घड़ी में जान जोखिम में डालकर फ्रंट लाइन पर कार्य कर रहे डाक्टरों, प्रशासनिक अधिकारियों, स्वास्थ सेवाओं से जुड़े तथा प्रशासनिक कर्मचारियों, एवं एसी नाज़ुक घड़ी में भी समाचारों का संकलन करने हेतु निकलने वाले मीडिया कर्मियों के उत्साहवर्धन हेतु थाली तथा ताली बजाने के निवेदन को समाज ने ऐसे मनाया मानो कोरोना का विनाश कर जश्न मना रहे हों ।
जगहां जगहां जुलूसों के रूप में भीड़ के साथ थाली,घंटा, बजाते लोगों ने तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल कर स्वंय को यौद्धा साबित करने के प्रयास किए ।
ऐसा लगा कि जैसे ये प्रधानमंत्री की अपील का मज़ाक उड़ाकर कोरोना को दावत दे रहे हैं ।
यही नहीं दूसरे दिन सोमवार को भी आमजन ने घोर लापरवाहियां जारी रखीं, लोग सड़कों पर भी निकले, गलियों में मजमा भी लगा दुकानें भी खुलीं तथा भीड़भाड़ भी रही ।
इस दौरान प्रशासन केवल व्यसत सड़कों पर एवं चौराहों पर ही सख़्ती करता दिखा जहां से अधिक तर मीडिया कर्मी, एवं आवश्यक वस्तुओं को लेजाने वालों के वाहन ही निकल रहे थे ।
कोरोना की विभीषिका की जितनी अनदेखी आमजन कर रहा है, उतनी ही प्रशासन विषेश कर पुलिस प्रशासन भी ।
समाचारों का संकलन करने निकले पत्रकारों से पुलिस का व्यवहार अनूकूल नहीं था ।
दूसरी ओर स्वासथ सेवाओं से जुड़े अधिकारी,कर्मचारी, एवं आला प्रशासनिक अधिकारी पूरी तरह मुस्तैद सजगता तत्परता, से अपने कर्त्तव्यों का निर्वाह करते दिखे, जिसमें लखनऊ जिलाधिकारी, उप जिलाधिकारी, कमिश्नर, एवं सहयोगीयों की कार्यशैली सराहनीय रही ।
वहीं थाना चौकी स्तर के पुलिस प्रशासन की कार्यप्रणाली कहीं से संतोषजनक नहीं दिखी ।
आमजन एवं प्रशासन के इस उदासीन रवैए, एवं हठधर्मिता के चलते कैसे कोरोना काबू में आयेगा, ये चिंता का विषय है ।
क्या ही अच्छा हो की संवेदनशील परिस्थितियों में गठित की जाने वाली शांती कमेटियों की तरह मोहल्ला वार जागरूकता कमेटियों के माध्यम से गली गली जागरूकता अभियान चलाया जाता, तथा थाना चौकी स्तर पर निरंतर गश्त का विषेश कर गलियों में निरंतर चौकसी की व्यवस्था सुनिश्चित की जाती ।
कोरोना का रोना मात्र एक दिन का नहीं था जिसे ताली,थाली,घंटा, बजाकर मिटा दिया गया ।
यह मौत बनकर समूचे विश्व पर मंडरा रहा है तथा यह सीमाएं, धर्म,जाती, वर्ग, नहीं देखता बल्की पूरी मानवता को ग्रास बनाना चाहता है, और भारत भी इसकी चपेट में है ।
कोरोना का मात्र जागरूकता से हराया जा सकता है और प्रशासन के निर्देश वैज्ञानिक आधार पर हैं इन्हें मानकर ही इस आपदा से मुक्त हो सकते हैं ।
अन्यथा त्रासदी निश्चित है ।

कोरोना वायरस को लेकर सभी देशवासियों से एस- के – के- न्यूज की ओर से अपील ।

By | उत्तर प्रेदश, देश | No Comments

देवबंद -सहारनपुर
कोरोना वायरस को लेकर सभी देशवासियों से एस- के – के- न्यूज की ओर से अपील ।
कोरोना वायरस से बचाव को लेकर जागरूकता की मुहिम शुरू की गई हैं । कोरोना वायरस से बचाओ के लिए सामाजिक दूरी ही सबसे जरूरी है। आप सभी देशवासियों से निवेदन करते हैं। कि जितना हो सकें अपने घर के अंदर ही रहे । हाथ मिलाने से परहेज करें । दिन में कई बार सैनिटाइजर या साबुन से हाथों को धोएं । लाॅकडाउन में आप सभी से सहयोग की अपील करते हैं। आप सभी घर के अंदर ही रहे। घर से बाहर जरूर काम के लिए ही निकले जितना हो सकता हो उतना बचे कही भी ज्यादा लोगो मे न तो आप हो और दूसरों को भी समझाओ बार बार साबुन या एंटीसेप्टिक लिकविड से हाथ धोते रहे कोरोना वायरस के संक्रमण के खिलाफ जंग में हर व्यक्ति की सहभागिता बेहद अहम होगी ।हम आप सभी से अपील करते हैं ।लाॅकडाउन में अपना सहयोग करें। और अपने घरो में ही रहें।
मनोज त्यागी

रोडवेज बसों में कोरोना वायरस से बचने के लिए सेनिटाइजर

By | उत्तर प्रेदश | No Comments

हापुड़ से मनीष कुमार की रिपोर्ट

रोडवेज बसों में कोरोना वायरस से बचने के लिए सेनिटाइजर

उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ में कोराना को लेकर हापुड़ रोडवेज बसों का किया जा रहा है। सैनेटाइजर रोडवेज बसों में यात्रियों को जागरूक किया जा रहा है। स्टैंड व बसों में स्प्रे कर सेनेटाइजर लगाए जा रहे है। ताकि यात्रियों को कोरोना वायरस से बचाया जा सके
आपको बता दें की मेरठ रोड स्तिथ रोडवेज बस स्टैंड पर बसों में स्प्रे कर सेनेटाइजर लगाने का सराहनीय कार्य किया जा रहा है।स्टैंड को भी सही प्रकार से स्प्रे किया जा रहा है। वहीं यात्रियों को कोरोना वायरस के बचाव के लिए भी जागरूक किया जा रहा है।एआरएम एनपी सिंह का कहना है कि बस स्टैंड को सेनेटाइक कर यात्रियों को सुविधाएं दी जा रही है। स्टैंड व बसों में स्प्रे कर सेनेटाइजर लगाए जा रहे है। ताकि यात्रियों का कोरोना वायरस से बचाव हो सके। वहीं साफ सफ़ाई पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है।

संदिग्ध परिस्थिति में महिला की मौत।

By | उत्तर प्रेदश | No Comments

संदिग्ध परिस्थिति में महिला की मौत।

रिपोर्ट – मनीष कुमार

उत्तर प्रदेश के जनपद हापुड़ में एक जूता फैक्ट्री में कार्यरत एक महिला की हत्या होने से सनसनी फैल गई।

बीओ – आपको बता दें कि जनपद हापुड़ के थाना देहात क्षेत्र के किठौर रोड पर भानु इंडस्ट्रीज नामक जूता बनाने की फैक्ट्री पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूरी पर स्थित है।

आरोप है कि इस फैक्ट्री में करीब 30 से 35 वर्षीय असौड़ा निवासी एक महिला पति की मृत्यु के बाद अपने 1 पुत्र के साथ जिसकी आयु करीब 14 से 15 वर्ष बताई जा रही है जीवन यापन कर रही थी। परंतु आरोप है कि फैक्ट्री संचालक अथवा व्यक्ति में कार्यरत कर्मियों द्वारा महिला के साथ किसी आपराधिक घटना को अंजाम देकर मौत की नींद सुला दिया गया। तथा महिला की मौत के बाद महिला के शव को 3 लोगों द्वारा घर के बाहर दरवाजे पर फेंक कर फरार होने की बात सामने आई है।

घटना की सूचना मिलते ही जहां पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया तो वहीं क्षेत्र में सनसनी फैल गई। चारों तरफ हाहाकार मच गया। मौके पर पहुंचे पुलिस के आला अधिकारियों ने मृतक महिला के शव को कब्जे में लेकर जहां पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया तो वही फैक्ट्री बंद कर फरार हुए आरोपियों की तलाश में भी पुलिस जुट गई।
हालांकि इस सारे मामले में अभी पुलिस का कोई आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।

बागपत स्वतंत्र प्रभार मंत्री धर्म सिंह सैनी ने योगी सरकार के 3 वर्ष पूर्ण होने पर विकास भवन की प्रेस वार्ता

By | उत्तर प्रेदश | No Comments

बागपत स्वतंत्र प्रभार मंत्री धर्म सिंह सैनी ने योगी सरकार के 3 वर्ष पूर्ण होने पर विकास भवन की प्रेस वार्ता

SUNIL CHAUHAN

BARAUT BAGHPAT यूपी में बीजेपी की सरकार के तीन साल पूरा होने पर आज बागपत पहुंचे स्वतंत्र प्रभार मंत्री धर्मसिंह सैनी ने विकास भवन में  की प्रेस वार्ता कोरोना वायरस  के चलते उन्होंने दिया बड़ा बयान उन्होंने कहा  की सभी को  गले में एक  पटका जरूर पहनना चाहिए  जिससे कि मुंह पर रखकर  वायरस से बचाव किया जा सके वहीं उन्होंने कहा कि किसानों का भी पूर्ण भुगतान हो चुका है और बदमाश भी अपने अपने बिलों में जा चुके हैं या फिर एनकाउंटर कर दिया गया है या फिर जेल के अंदर है  उन्होंने कहा योगी सरकार में कोई भी अनियमितता बर्दाश्त नहीं की जाएगी वही योगी सरकार  में उत्तर प्रदेश का चहुंमुखी विकास हुआ है किसानों की आमदनी  दुगनी  करने के लिए ठोस कदम उठाए गए हैं वही योगी सरकार में जन औषधि योजना के तहत औषधि केंद्रों के माध्यम से  सस्ती  गुणवत्तापूर्ण  औषधि उपलब्ध कराई गई उत्तर प्रदेश सरकार में प्रधानमंत्री सुकन्या समृद्धि योजना के द्वारा  कन्याओं के लिए  खाते खोलकर  14 साल के लिए  जमा राशि संचित  होती है जिला अस्पताल में आइसोलेशन वार्ड का निरीक्षण करने के दौरान एक बड़ा बयान देते हुए कहा है कि कोरोना वायरस से बचने के लिए सावधानी बरतें ओर दिन में कई बार हाथ धोएं , भीड़भाड़ वाले इलाके में न जाये अगर खांसी वगेरा अति है तो निजी चिकित्सालय में जांच कराए ओर पूरीतरह से सावधानी रखें।

नाव डूबने से हुआ बड़ा हादसा

By | उत्तर प्रेदश | No Comments

नाव डूबने से हुआ बड़ा हादसा

SUNIL KUMAR

बागपत में फिर एक बार यमुना नदी में डूबने से करीब तीन महिलाओं की मौत हो गई जबकि 9 लोगों को सुरक्षित बचा लिया गया है दरअसल आपको बता दें की 12 तारीख को देर शाम कुछ मजदूर मजदूरी के लिए नाव में बैठकर यमुनापार खेतों पर जा रहे थे लेकिन बारिश की वजह से यमुना में पानी का स्तर बढ़ गया था तो वहीं छोटी नाव में करीब 13 लोग मौजूद थे जिस कारण नाव में पानी भर गया और वह डूब गई मौके पर मौजूद गोताखोरों ने 10 लोगों को सुरक्षित बचा लिया जबकि तीन महिलाएं पानी में बह गई जिनमें से 17 वर्षीय लड़की की लाश को लाश को बाहर निकाल कर पोस्टमार्टम करा दिया गया जबकि दो महिलाएं अभी भी लापता है एसडीएम बागपत का कहना है कि मृतक लड़की के परिजनों को चार लाख रु का मुआवजा दिया गया जबकि घायलों को चार हजार तीनसौ रु दिए जाएंगे वही लापता दोनों महिलाओं की लगातार खोज जारी है।

बसपा जिलाध्यक्ष बागपत द्वारा छात्रा से छेड़छाड़ के मामले ने पकड़ा तूल

By | उत्तर प्रेदश | No Comments

बसपा जिलाध्यक्ष बागपत द्वारा छात्रा से छेड़छाड़ के मामले ने पकड़ा तूल

SUNIL KUMAR

BARAUT BAGHPAT दिगम्बर जैन महाविद्यालय में एमए अर्थशास्त्र विषय मे पढ़ाई करने वाली एक छात्रा से वही के सहायक प्रोफेसर ने अश्लील हरकत करते हुए उसे अलग कमरे में बुलाने को बाध्य करने का प्रयास किया। यह मामला अब तूल पकड़ता जा रहा है। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने कॉलेज पहुँचकर नारेबाजी प्रदर्शन किया। साथ प्राचार्य को ज्ञापन देकर शिक्षक को सस्पेंड करने की मांग की।
दरअसल, पीड़ित छात्रा ने इस मामले की शिकायत कॉलेज प्राचार्य से की तो कॉलेज प्रबंधन में हड़कम्प मच गया था। शिक्षक अपनी इस घिनोनी हरकत पर शर्मसार होने के बजाय छात्रा को फोन पर धमकियां तक दे रहा है। खास बात यह है कि यह आरोपी शिक्षक बसपा के जिलाध्यक्ष भी है और लगातार अपनी पार्टी के ओहदे की धौंस भी छात्रा को दे रहे है। शुक्रवार को यह प्रकरण आग तरह सब जगह फैल गया। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ता जिला संयोजक अंकुर के नेतृत्व में कॉलेज के बाहर एकत्रित हुए। कार्यकर्ताओं ने आरोपी शिक्षक के खिलाफ नारेबाजी करते हुए हंगामा प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने कॉलेज प्राचार्य को ज्ञापन देते हुए आरोपी शिक्षक को सस्पेंड कर कड़ी कार्रवाही की मांग की। कार्यकर्ताओं का कहना था कि पीड़ित छात्रा बेहद डरी और सहमी हुई है क्योंकि कॉलेज प्रबंधन इस मामले में लापरवाही बरतते हुए कोई कार्यवाही उक्त शिक्षक के खिलाफ नहीं कर रहा है। आरोपी शिक्षक ने छात्रा को पढ़ाई के बहाने अलग कमरे में बुलाकर अश्लील हरकतें करते हुए छेड़छाड़ शुरू कर दी। परिषद कार्यकर्ताओं ने चेतावनी दी कि यदि आरोपी शिक्षक जोकि बसपा का जिलाध्यक्ष भी है, के खिलाफ कार्रवाही नहीं हुई तो परिषद धरना प्रदर्शन शुरू करेगा। कॉलेज प्राचार्य डॉ वीरेंद्र सिंह ने कार्यकर्ताओं को कड़ी कार्यवाही करने का आस्वासन दिया है।