Breaking News

उत्तर प्रेदश:- योगी जी की विकास की राहें अपनी बदहाली पर आंसू बहा रही है !
उत्तर प्रेदश:- रंगरलियां मना रहे दो जोड़ो की हुई जमकर पिटाई
देश:- प्रधानमंत्री ने कहा कि सामान्य वर्ग के गरीबों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण विधेयक एक ऐतिहासिक कदम है जो गरीबों के लिए सरकार की प्रतिबद्धता को दर्शाता है
देश:- स्वच्छ भारत मिशन खुले में शौच से मुक्त भारत के लक्ष्य प्राप्ति की ओर
देश:- मेघालय में पहली ‘स्वदेश दर्शन’ परियोजना का उद्घाटन
देश:- रेल संरक्षा में भारत-जापान सहयोग के लिए रेलमंत्रालय ने चर्चा रिकॉर्ड पर हस्‍ताक्षर किये |
अम्बेडकरनगर

पड़ोसियों का ध्यान रखते हुए गरीबों की करें मदद : शफाअत हुसैन एडवोकेट

By March 31, 2020 No Comments

______ दिलशाद अब्बास
अम्बेडकरनगर। सभी को मालूम है कि इस वक्त पूरी दुनिया के साथ हिन्दुस्तान भी कोरोना नामक वायरस जैसी खतरनाक बीमारी से पीड़ित है हज़ारो की तादाद मे लोगों की जानें जा रही हैं। सरकार एहतियाती तदबीर अख्तियार करते हुए पूरी तरह से देश को लॉकडाउन कर चुकी है ऐसे मे तमाम लोगों कि ज़िम्मेदारी बनती है कि वो सरकार के दिये गए निर्देशों का पालन करने के साथ अपने घरों में रहकर खुद अपनी सुरक्षा स्वंम करें। पड़ोसियों को ध्यान मे रखते हुए गरीबों की मदद करें और अपनी इबादतों मे भी इज़ाफा करें। उक्त बातें अल इमाम चैरिटेबल फाउंडेशन के अध्यक्ष श्री शफाअत हुसैन एडवोकेट ने अपने एक संदेश मे देश की इंसानियत से अपील करते हुए कहा कि अभी भी एक बड़ी तादाद ऐसे लोगों की है जो सड़कों पर बिला वजह घूम रहे हैं । ये लोग न सिर्फ अपने घर वालों बल्कि पूरे इलाक़ा के लिए परेशानी का सबब बन सकते हैं। मुल्क मे लॉकडाउन होने के बावजूद कुछ नवयुवक अपनी जान की परवाह किए बगैर किसी काम के सड़कों पर फर्राटा भर रहे हैं वो एक चिंता का विषय है। जब लोग परेशानी मे हों तो हमारी ज़िम्मेदारियां बढ़ जाती हैं और घर से मजबूरन बाहर निकलना पड़ता है। रविवार को अल इमाम चैरिटेबल फाउंडेशन के अध्यक्ष श्री शफाअत हुसैन एडवोकेट ने तकरीबन 6 गांव मे जाकर उन गरीबों की इमदाद की जिनके चूल्हे जलना बंद हो गए थे। और श्री हुसैन ने बताया कि जहां तक मुमकिन होगा इमदाद का ये सिलसिला जारी व सारी रहेगा। मैं प्रशासन के साथ साथ उन लोगों को भी धन्यवाद देना चाहता हूं जो मुसीबत की इस घड़ी मे इंसानियत की सेवा करने मे अपना पूरा योगदान दे रहे हैं।

Leave a Reply